Shayari

Funny Shayari [200+] That will Make you laugh as hell

Funny Shayari

अर्ज़ किया है:

वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;

ज़रा गौर फरमाइये:

वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;

बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो।

मोहब्बत करने वालों को इनकार अच्छा नहीं लगता;

इस दुनिया के बाशिंदों को इकरार अच्छा नहीं लगता;

जब तक लड़का भगा नहीं ले जाए लड़की को;

तब तक लोगों को प्यार सच्चा नहीं लगता!

तेरी दुनिया में कोई गम ना हो;

तेरी खुशियाँ कभी कम न हो;

भगवान तुझे ऐसी आइटम दे;

जो अग्निपथ की चिकनी चमेली से कम ना हो।

मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;

मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;

तेरे बाप ने पीट दिया मुझे तबला समझ कर।

चेतावनी

अगर आपको कोई अनजान पार्सल मिले;

तो उसे ना खोलें उसमें मेरी फोटो हो सकती है;

और आपकी ज़रा सी लपरवाही आपको;

मेरा दीवाना बना सकती है।

हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;

हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है;

.

.

हाथ छोड़ कमीने मेरी नाक बह रही है।

उसूल-ए-वफ़ा:

ये मोहब्बत नहीं, उसूल-ए-वफ़ा है;

ऐ दोस्त, हम जान तो दे देंगे मगर अपनी जान का नंबर नहीं देंगे!

उन्होंने देखा हमें तिरछी नज़र से तो हम मदहोश हो गए;

जब पता चला कि उनके नैन ही तिरछे हैं तो हम बेहोश हो गए!

कमाल तेरे नखरे, कमाल का तेरा स्टाइल है;

बात करने की तमीज नहीं, और हाथ में मोबाइल है!

हम दिलफेक आशिक़ हर काम में कमाल कर दे;

जो वादा करे वो पूरा हर हाल में कर दे;

क्या जरुरत है जानू को लिपस्टिक लगाने की;

हम चूम-चूम के ही होंठ लाल कर दें।

पंख लगाकर मेरे ख्वाबों को ले जाओ कहीं दूर;

नालायक रात में आते हैं, और सोने भी नहीं देते!

मैंने दरवाजा खोला तो:

उसकी आँखों में आंसू, चेहरे पर हंसी थी;

सासों में आहें, दिल में बेबसी थी;

पगली ने पहले नहीं बताया कि

.

..

दरवाजे में उसकी ऊँगली फंसी थी।

कभी हौसला भी आजमा लेना चाहिए;

बुरे वक़्त में मुस्कुरा लेना चाहिए;

अगर सांतवे दिन भी खुजली ना मिटे तो;

आठवें दिन नहा लेना चाहिए।

आपकी बातों पे दिल हारूं;

आपकी सूरत पे जान वारूं;

जिस नहीं आता आपका कोई सन्देश;

दिल करता है आपके गाल पर दो तमाचे मारूं!

अर्ज़ किया है:

उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;

अरे वाह वाह;

उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;

यूं बैठकर शौचालय में जोर लगाने से क्या फायदा।

सोचता हूँ कंजूसों का एक डिपार्टमेंट बनाऊ;

चेयरमैन की कुर्सी पर आपको बिठाऊ;

दुनिया से आप को चंदा दिलवाऊ;

ताकि आप से कुछ मैसेज्स तो ले पाऊ!

हकीकत समझो या फसाना;

अपना समझो या बेगाना;

हमारा आपका है रिश्ता पुराना;

इसलिये फर्ज था आपको बताना;

ठंड शुरू हो गयी है;

कृपया रोज मत नहाना!

तेरे इश्क ने सरकारी दफ्तर बना दिया दिल को;

ना कोई काम करता है, ना कोई बात सुनता है!

आपने दिल का हाल बताना छोड़ दिया;

हमने भी गहराई में जाना छोड़ दिया;

होली से पहले ही आपने;

सुबह नहाना छोड़ दिया।

शुभ सर्दी।

प्यारा सा चेहरा, मीठी सी आवाज़;

मासूम सा दिल, स्वीट सी मुस्कान;

परफेक्ट पेर्सोनलिटी, खुसमिजाज अंदाज़;

ये तो हुई मेरी बात… और  बताओ कैसे हो आप?

चूल्हे पे रखा तवा गर्म है;

वाह-वाह;

चूल्हे पे रखा तवा गर्म है;

 

आज कल की लड़कियों से ज़्यादा तो लड़कों में शर्म है!

About the author

starboy

A professional blogger and a passionate cricketer.

Leave a Reply

%d bloggers like this: