Funny Shayari [200+] That will Make you laugh as hell

काला न कहो मेरे महबूब को

काला न कहो मेरे महबूब को

खुदा तो तिल ही बना रहा था

पर प्याला ही लुढ़क गया।

चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;

वाह वाह!

चाँद से रोशनी ज्यादा और सितारों से कम निकले;

जब भी मैं तुझे देखूं मेरी हंसी एक दम निकले।

बारिश का मौसम बहुत तडपता है;

उनकी याद हैं जिन्हें दिल चाहता है;

लेकिन वो आए भी तो कैसे;

ना उनके पास रैन कोट है और ना छाता है।

इश्क में ये अनजाम पाया है;

हाथ पैर टूटे, मुंह से खून आया है;

हॉस्पिटल पहुचा तो नर्स ने फ़रमाया;

बहारों फूल बरसाओ, किसी का महबूब आया है।

हम दुआ करते हैं खुदा से;

कि वो आप जैसा दोस्त और ना बनाए;

एक कार्टून जैसी चीज़ जो हमारे पास है;

कहीं वो भी कॉमन ना हो जाए!

जब तुम अंगडाई लेते हो, हमारा दम निकल जाता है;

ऐ ज़ालिम, ये बता नहाने में तुम्हारा क्या जाता है।

जीवन में एक चीज़ याद रखना:

आंसू पोछने वाले बहुत मिलेंगे;

पर नाक पूछने वाला कोई नहीं मिलेगा;

तो ज़ेब  में हमेशा रुमाल रखना।

Funny wali shayari

मेरे दोस्त तुम भी लिखा करो शायरी;

तुम्हारा भी मेरी तरह नाम हो जाएगा; जब तुम पर भी पड़ेंगे अंडे और टमाटर;

तो शाम की सब्जी का इंतज़ाम हो जाएगा।

तुझसे कैसे नज़र मिलाएं दिलबर जानी;

तुझसे कैसे नज़र मिलाएं दिलबर जानी;

तेरी दायीं आँख काणी;

मेरी बायीं आँख काणी!

चली जाती है आये दिन वो बियुटी पार्लोर में यूं;

उनका मकसद है, “मिशाल-ए-हूर” हो जाना;

मगर ये बात किसी भी बेगम की समझ में क्यों नहीं आती;

कि मुमकिन नहीं ‘किशमिश’ का फिर से ‘अंगूर’ हो जाना।

Funny shayari

छेड़ दिया इश्क मैंने आतंकियों के देश में;

दुश्मन भी प्यारा लगा हिना रबानी के वेश में।

कर्ज़ा देता मित्र को, वह मूर्ख कहलाए,

महामूर्ख वह यार है, जो पैसे लौटाए!

मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;

मैंने चाहा तुझे अबला समझ कर;

तेरे बाप ने पीट दिया मुझे तबला समझ कर।

अर्ज़ किया है:

उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;

अरे वाह वाह;

उसको आना होगा तो खुद ही चली आयेगी;

यूं बैठकर शौचालय में जोर लगाने से क्या फायदा।

Pages: 1 2 3 4 5 6

Leave a Reply